कोरोना संकट व अस्पताल की हर जरुरत सहायता के लिए जसोल धाम तैयार- रावल किशनसिंह जसोल

img

जोधपुर, शुक्रवार, 28 मई 2021। श्री राणी भटियाणी मन्दिर संस्थान द्वारा राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जसोल में दूर दराज ग्रामीण इलाकों से पहुँचने वाली प्रसूताओं को अस्पताल में आधुनिक सुविधा देने के उद्देश्य को लेकर कार्य किया जा रहा है। वंही कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान अस्पताल में उपचार के लिए आने वाले मरीजों को राहत पहुँचाने हेतु चिकित्सा उपकरण मंदिर संस्थान द्वारा पहले ही दे दिए गऐ है। मन्दिर संस्थान द्वारा अस्पताल में, एक फीटल हार्ट डॉप्लर(बीपीएल), एक मल्टी पैरा मॉनिटरिंग मशीन(बीपीएल), पांच टेबल टॉप पल्स ऑक्सीमीटर(कोनटेक) व एक एयर कंडीशनर 1.5टन(ओ-जनरल) दिए गए। मन्दिर संस्थान ने कोरोना काल में आम जन की सहायता को लेकर अपने द्वार खोल रखे है।  उसी कड़ी में जसोलधाम ने राजकीय नाहटा चिकित्सालय बालोतरा व राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जसोल में चिकित्सा उपकरण देकर आहत को राहत पहुँचाने का कार्य किया। 

संस्थान अध्यक्ष रावल किशनसिंह जसोल ने कहा कि, इस महामारी से सामना करने के लिए सभी का सहयोग जरूरी है और किसी भी स्तर पर घबराने की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र से आने वाली प्रसूताओं को राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जसोल पर ही उन्हें उचित उपचार व सुविधा मिले, जिससे उनको अन्यत्र नही जाना पड़े, इस उद्देश्य को लेकर मन्दिर संस्थान ने हर समय सहयोग किया है। इस कोरोना काल में भी अस्पताल के डॉक्टरों से राय लेते हुए अस्पताल में जरुरत मंद उपकरण दिए गए, जिससे अस्पताल में आने वाले ग्रामीण मरीजों को राहत मिलेगी। वहीं उन्होनें कहा की हम सभी नागरिकों को जिम्मेदारी के साथ प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी, ताकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। कोविड19 से बचाव के लिए वैक्सीनेशन एक कारगर हथियार है तथा सभी को अपनी बारी आने पर टीकाकरण अवश्य करवाना चाहिए, जो सुरक्षित भी है और असरदार भी।

डॉ. सौरभ शारदा ने कहा कि, मन्दिर संस्थान ने इन मशीनो को देकर अस्पताल के प्रसूति गृह (लेबर रूम) को अपग्रेड किया हैं। डिलेवरी के समय बच्चे की जांच के साथ ही गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की भी जांच हो सकेगी। सुरक्षित प्रसव के साथ ही अस्पताल में आने वाली प्रसूताओं की संख्या बढ़ेगी। संस्थान को हमने जब भी चिकित्सा उपकरणों को लेकर अवगत कराया तो संस्थान ने हर संभव सहायता कर सेवा कार्य किया, जिसका अस्पताल प्रबंधन आभारी हैं। मन्दिर संस्थान, जिले के डॉक्टर व हेल्थ केयर वर्कर्स, जिन्होंने अग्रिम पंक्ति में खड़े होकर कोरोना का सामना किया और मरीजों को बचाया उनकी निस्वार्थ सेवा भावना की सराहना करता है। संस्थान उनके लिए शुभकामनाओं के साथ स्वस्थ रहने की माजीसा से प्रार्थना करता है। 

इस दौरान देवेन्द्र कुमार माली ने कहा कि हमारे गरीब जन-जन के मसीहा भू.पू. सरपंच श्री जालमसिंह जी आज हमारे बीच नहीं रहे। जिनकी कमी हमें महसूस हो रही हैं। उनकी दिवगंत आत्मा को शांति मिले, इसके लिए हम सब एक मिनट का मौन रखकर यह सेवा कार्य संस्थान द्वारा जन जननी सुविधा हेतु जरूरतमंद आधुनिक उपकरण भेंट करना सराहनीय हैं।  इस मौके पर डॉ सौरभ शारदा, डॉ.हितेन्द्र सिंह, डॉ विमला पँवार, संस्थान सचिव ठा.गजेंद्र सिंह, प्रबन्धन कमेटी सदस्य फतेहसिंह जसोल, देवेंद्र माली, अशोक कुमार प्रजापत, शांतिलाल बोकड़िया, भीमाराम माली, ललित खण्डेलवाल, देवाराम माली, शांतिलाल सुथार, राकेश सैन, सागरमल, संस्थान सुपरवाईजर भोपालसिंह मलवा व अन्य चिकित्साकर्मी मौजूद रहे।
 

Similar Post

LIFESTYLE

AUTOMOBILES

Recent Articles

Facebook Like

Subscribe

FLICKER IMAGES

Advertisement